Featured Post

स्वर्गीय श्रीमती सुप्यार कंवर की 35वीं पुण्यतिथि पर आमरस एवं भजनामृत गंगा कार्यक्रम का हुआ भव्य आयोजन

Image
जयपुर। स्वर्गीय श्रीमती सुप्यार कंवर की 35वीं पुण्यतिथि पर सुप्यार देवी तंवर फाउंडेशन के तत्वावधान में रविवार, 19 मई, 2024 को कांवटिया सर्कल पर भावपूर्ण भजन संध्या का आयोजन के साथ आमरस प्रसादी का वितरण किया गया।  कार्यक्रम में प्रतिभाशाली कलाकारों की आकाशीय आवाजें शांत वातावरण में गुंजायमान हो उठीं, जो उपस्थित लोगों के दिलों और आत्मा को छू गईं। इस अवसर पर स्थानीय जनप्रतिनिधि, आईएएस राजेंद्र विजय, एडिशनल एसपी पूनमचंद विश्नोई, सुरेंद्र सिंह शेखावत, अनिल शर्मा, के.के. अवस्थी, अन्य वरिष्ठ अधिकारीगण सहित सुप्यार देवी तंवर फाउंडेशन के अध्यक्ष राधेश्याम तंवर, उपाध्यक्ष श्रीमती मीना कंवर, मंत्री मेघना तंवर, कोषाध्यक्ष अजय सिंह तंवर एवं गणमान्य अतिथिगण उपस्थित रहे।

विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस (03 मई 2020) पर आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएं...


3 मई को क्यों मनाया जाता है विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस...


हर साल 3 मई को विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है। मीडिया क्षेत्र में कार्यरत पत्रकार इस दिवस को धूमधाम से मनाते है मगर ज्यादातर पत्रकारों को इस दिवस को मनाने के बारे में कारण व विस्तृत जानकारी नहीं होती है। आइए, जानते हैं कि 3 मई को ही आखिर ​क्यों विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस मनाते हैं और इस दिवस से जुडी विस्तृत जानकारी।


विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस मनाने का कारण


दरअसल विश्व स्तर पर मीडिया की आजादी का सम्मान करने के लिए ही संयुक्त राष्ट्र संघ की महासभा द्वारा 3 मई को विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस घोषित किया गया और यूनेस्को महासम्मेलन की अनुशंसा के बाद दिसंबर 1993 में संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 3 मई को प्रेस स्वतंत्रता दिवस मनाए जाने की घोषणा की थी।


अफ्रीका के पत्रकारों ने की थी सर्वप्रथम पहल


अफ्रीका के पत्रकारों ने प्रेस की आजादी के लिए वर्ष 1991 में सबसे पहले पहल की थी और उन्होंने 3 मई को प्रेस की आजादी के सिद्धांतों से संबंधित एक बयान भी जारी किया था जिसे डिक्लेरेशन ऑफ विंडहोक के नाम से जाना गया है। इसके 2 साल बाद ही 1993 को संयुक्त राष्ट्र ने यह दिवस विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाने की घोषणा कर दी। 


विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस मनाने का इसलिए है महत्व 


3 मई को विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस मनाने का विशेष महत्व है। इस दिन को मनाने का उद्देश्य प्रेस की आजादी के प्रति मीडिया​कर्मियों को जागरूक करना है और साथ में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता व सम्मान भी बना रहे। मीडिया की आजादी का महत्व बताते हुए यह दिन विश्व को बताता है ​कि लोकतंत्र की मूल्यों की सुरक्षा व नागरिकों के अधिकारों की रक्षा करने में प्रेस अहम भूमिका निभाती है इसलिए सरकारों को चाहिए कि वे मीडिया​कर्मियों की सुरक्षा हमेशा सुनिश्चित करें। 


खास बात यह भी है कि यूनेस्को की ओर से 1997 से हर वर्ष 3 मई को विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस पर गिलेरमो कानो वर्ल्ड प्रेस फ्रीडम प्राइज भी प्रदान किया जाता है और यह पुरस्कार उस व्यक्ति अथवा संस्थान को मिलता है जिसने प्रेस की स्वतंत्रता के लिए उल्लेखनीय कार्य किया हो।


Comments

Popular posts from this blog

आम आदमी पार्टी के यूथ विंग प्रेसिडेंट अनुराग बराड़ ने दिया इस्तीफा

1008 प्रकांड पंडितों ने किया राजस्थान में सबसे बड़ा धार्मिक अनुष्ठान

दी न्यू ड्रीम्स स्कूल में बोर्ड परीक्षा में अच्छी सफलता पर बच्चों को दिया नगद पुरुस्कार