Posts

Showing posts from April, 2022

Featured Post

स्वर्गीय श्रीमती सुप्यार कंवर की 35वीं पुण्यतिथि पर आमरस एवं भजनामृत गंगा कार्यक्रम का हुआ भव्य आयोजन

Image
जयपुर। स्वर्गीय श्रीमती सुप्यार कंवर की 35वीं पुण्यतिथि पर सुप्यार देवी तंवर फाउंडेशन के तत्वावधान में रविवार, 19 मई, 2024 को कांवटिया सर्कल पर भावपूर्ण भजन संध्या का आयोजन के साथ आमरस प्रसादी का वितरण किया गया।  कार्यक्रम में प्रतिभाशाली कलाकारों की आकाशीय आवाजें शांत वातावरण में गुंजायमान हो उठीं, जो उपस्थित लोगों के दिलों और आत्मा को छू गईं। इस अवसर पर स्थानीय जनप्रतिनिधि, आईएएस राजेंद्र विजय, एडिशनल एसपी पूनमचंद विश्नोई, सुरेंद्र सिंह शेखावत, अनिल शर्मा, के.के. अवस्थी, अन्य वरिष्ठ अधिकारीगण सहित सुप्यार देवी तंवर फाउंडेशन के अध्यक्ष राधेश्याम तंवर, उपाध्यक्ष श्रीमती मीना कंवर, मंत्री मेघना तंवर, कोषाध्यक्ष अजय सिंह तंवर एवं गणमान्य अतिथिगण उपस्थित रहे।

आवासन आयुक्त ने किया कोचिंग हब और शिक्षक प्रहरी आवासीय योजना का आकस्मिक निरीक्षण

Image
प्रताप नगर में बन रहा है देश का पहला कोचिंग हब 30 जून तक पूर्ण करें मुख्यमंत्री शिक्षक एवं प्रहरी आवासीय योजना का काम  जयपुर। आवासन आयुक्त पवन अरोड़ा ने सोमवार को प्रताप नगर में हाउसिंग बोर्ड द्वारा निर्माणाधीन देश के पहले कोचिंग हब प्रोजेक्ट और मुख्यमंत्री शिक्षक एवं प्रहरी आवासीय योजनाओं के निर्माण कार्य का औचक निरीक्षण किया। अरोडा ने इन महत्वाकांक्षी प्रोजेक्टों में कार्य की प्रगति को देखा और इसकी गति को बढाने के निर्देश दिये। आवासन आयुक्त ने बताया कि कोचिंग हब प्रोजेक्ट देश में अपनी तरह का अनूठा प्रोजेक्ट है। यहां सेक्टर-16 स्थित 200 फीट चैडे मुख्य हल्दीघाटी मार्ग पर करीब 67 हजार वर्ग मीटर भूमि पर विशाल कोचिंग हब का निर्माण किया जा रहा है। योजना में 8 इंस्टिट्यूशनल ब्लॉक के साथ ही छात्रावास, फूड कोर्ट, रेस्टोरेंट, हैल्थ क्लब, जिम, साइकिल ट्रैक, कैफेटेरिया का भी निर्माण किया जा रहा है। इन कार्यों में गुणवत्ता का पूरा ध्यान रखा जाए। उन्होंने यहां लाइब्रेरी ब्लॉक का कार्य प्रारंभ करने के निर्देश दिये।   अरोड़ा ने बताया कि शिक्षकों एवं प्रहरियों के लिये मुख्यमंत्री शिक्षक एवं प्रहरी आ

राजस्थान लघु एवं मध्यम समाचर पत्र संघ का महासम्मेलन अगले महीने जयपुर में

Image
अपने हितों व हक के लिए जुटेंगे प्रदेश के अखबार मालिक व पत्रकार संघों के प्रतिनिधि... जयपुर। राजस्थान के लघु व मध्यम समाचार पत्रों के मुद्दों एवं मांगों के समाधान के लिए रविवार को जयपुर में एक बैठक हुई। राजस्थान लघु व मध्यम समाचार पत्र एसोसिएशन के बैनर तले आयोजित इस बैठक में सभी पत्रकार संघों के पदाधिकारियों और समाचार पत्रों के संपादक शामिल हुए। बैठक में लघु, मध्यम व मंझले समाचार पत्रों को नियमित तौर पर सरकारी विज्ञापन मिलने, विज्ञापन नीति में सरलीकरण, रियायती दरों पर संघों व समाचार पत्रों को जमीन आवंटन, कैशलेश मेडिकल पॉलिसी, डिजिटल पॉलिसी में  लघु समाचार पत्रों को लाभ मिलने के प्रावधान किए जाने, पत्रकार सुरक्षा कानून लागू करने, आईएनएस की तर्ज पर जयपुर में भी समाचार पत्रों के लिए भवन निर्माण, राज्यस्तरीय कमेटियों में संघों का प्रतिनिधित्व बढ़ाने समेत कई मुद्दों पर चर्चा हुई। चर्चा में सामने आए सुझावों व मांगों से सम्बंधित ज्ञापन माननीय मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को दिए जाने का प्रस्ताव लिया गया। साथ ही राजस्थान लघु व मध्यम समाचार संघ की ओर से लघु समाचार पत्रों की एकता और हितों के लिये अगले

हाउसिंग बोर्ड ने मानसरोवर में 20 करोड की भूमि को कब्जा मुक्त करवाया

Image
कावेरी पथ पर 1836 वर्ग मीटर भूमि है क्षेत्रफल, जेसीबी से ध्वस्त करवाया अतिक्रमण... जयपुर। आवासन आयुक्त पवन अरोड़ा के निर्देश पर हाउसिंग बोर्ड के कार्मिकों ने सोमवार को मानसरोवर के कावेरी पथ सेक्टर-1 स्थित 1836 वर्ग मीटर भूमि को कब्जा मुक्त करवाया। अरोड़ा ने बताया कि इस भूमि पर विगत 40 वर्षों से खातेदार ने कब्जा कर रखा था और करीब 500 वर्ग गज भूमि पर निर्माण भी करा रखा था। जिस पर पुलिस एवं जेसीबी के सहयोग से इस भूमि को अतिक्रमण मुक्त करवाने और निर्माण को ध्वस्त करवाने की कार्यवाही की गई। वाणिज्यिक प्रयोजनार्थ नियोजित इस भूमि की वर्तमान कीमत मण्डल की आरक्षित दर पर करीब 20 करोड रूपये है। आवासन आयुक्त ने बताया कि इस भूमि पर माननीय उच्च न्यायालय द्वारा वर्ष 2018 से स्थगन आदेश दिया हुआ था जिसे कि फरवरी, 2022 में स्थगन आदेश से हटा दिया गया था। इसके पश्चात मण्डल ने आज कब्जा हटाने की कार्यवाही अमल में लाई। ◼️ यह भी देखें... आवासन मण्डल अपनी योजनाओं को एनर्जी एफिशियेन्ट बनाएगा: आवासन आयुक्त

देश और जनहित सर्वोपरि थे चौधरी चरणसिंह के लिए - सुमित्रा सिंह

Image
- माली की तरह अपनी भूमिका निभा रहे हैं वरिष्ठ साहित्यकार - आफरीदी - कलमकार मंच द्वारा प्रकाशित राजस्थान के सात लेखकों की किताबों का लोकार्पण जयपुर। देश की अग्रणी साहित्य संस्था कलमकार मंच की ओर से प्रकाशित राजस्थान के सात लेखकों की किताबों के लोकार्पण समारोह में पूर्व विधानसभा अध्यक्ष सुमित्रा सिंह ने इस बात पर खुशी जाहिर की कि समारोह में महिला लेखकों की किताबों का लोकार्पण हुआ और उन्हें सम्मान मिला। मुख्य अतिथि के रूप में अपने संबोधन में उन्होंने अपने राजनीतिक जीवन और पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरणसिंह के व्यक्तित्व का जिक्र करते हुए कहा कि वे सही मायनों में एक ऐसे नेता थे जिनके लिए देश और जनहित सर्वोपरि थे। समारोह की अध्यक्षता वरिष्ठ साहित्यकार नंद भारद्वाज ने की। कलमकार की ओर से प्रकाशित किताबों के इस सेट में पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरणसिंह के जीवनी ग्रंथ का भी प्रकाशन किया गया है। यह किताब 548 पृष्ठ की है जिसमें बहुत से महत्वपूर्ण किस्सों, अनछुए पहलुओं को तथ्यों व प्रमाणिकता के साथ समाहित किया गया है। मोतीडूंगरी स्थित होटल साहिब्स हैरिटेज में आयोजित इस समारोह में देश के ख्यात साहित

सामूहिक विवाह देते हैं समरसता का संदेश - चांदना

Image
जयपुर । सूचना एवं जनसंपर्क राज्यमंत्री अशोक चांदना ने शुक्रवार को बूंदी के हिण्डोली-नैनवां क्षेत्र के नाहरगंज ,  जजावर के ताकला गांव ,  हनुमानपुरा (कुम्हरला बालाजी) छाबडियो का नयागांव ,  सहसपुरिया व पेच की बावडी गांव में विभिन्न सामाजिक कार्यक्रमों में शिरकत की। इस दौरान चांदना ने ग्रामीणों को सम्बोधित करते हुए कहा की मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व वाली राज्य सरकार में हिण्डोली-नैनवां क्षेत्र में विकास के नए कीर्तिमान बन रहे हैं। बरसों से उपेक्षित इस क्षेत्र में वर्तमान में विकास की हवा बह रही है। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में क्षेत्र के विकास को और अधिक गति देकर आमजन को सहूलियतें और जीवन स्तर उंचा करने का पुरजोर प्रयास किया जाएगा। जजावर के ताकला गांव में वीर गुर्जर समाज द्वारा आयोजित सामूहिक विवाह सम्मेलन को संबोधित करते हुए राज्य मंत्री श्री चांदना ने कहा कि समरसता के लिए सामूहिक विवाह एक सकारात्मक पहल है। इससे समाज में अमीर गरीब का भेद मिटता है। उन्होंने विवाह आयोजन के लिए आयोजकों को साधुवाद और  नवयुगलों को शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में आमजन को बेहतर चिकित्सा सुवि

आवासन मण्डल अपनी योजनाओं को एनर्जी एफिशियेन्ट बनाएगा: आवासन आयुक्त

Image
आरआरईसी-हाउसिंग बोर्ड की ओर से दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला ग्रीन बिल्डिंग कॉन्सेप्ट पर बन रही हैं मण्डल की बहुमंजिला आवासीय परियोजनाएं... जयपुर। राजस्थान आवासन मण्डल अपनी निर्माणाधीन एवं भावी योजनाओं को एनर्जी एफिशियेन्सी मोड़ पर विकसित करेगा। आवासन आयुक्त पवन अरोड़ा ने इस संबंध में संबंधित अभियन्ताओं को निर्देश दिये हैं। अरोड़ा राजस्थान आवासन मंडल तथा राजस्थान रिन्यूबल एनर्जी कॉर्पोरेशन (आरआरईसी) की ओर से शुक्रवार को आवासन मण्डल में ऊर्जा दक्षता विषय पर मण्डल के अभियन्ताओं की दो दिवसीय कार्यशाला कोे संबोधित कर रहे थे। आवासन आयुक्त ने कहा कि कुशल डिजाइन एवं बेहतर प्रबंधन से एनर्जी एफिशियेन्ट भवन बनाये जा सकते हैं। जिससे कि ऊर्जा की खपत को लगभग 40 प्रतिशत तक कम किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि ऊर्जा की बढती जरूरतों को देखते हुए हमें एनर्जी सेविंग मोड पर जोर देना होगा। आवासन आयुक्त ने अभियन्ताओं को इसके लिये ब्यूरो ऑफ एनर्जी एफिशियेन्सी (बीईई) की ऊर्जा संरक्षण भवन संहिता (एनर्जी कन्जरवेशन बिल्डिंग कोड) का विस्तृत अध्ययन करने के निर्देश दिये और कहा कि आवासन मण्डल मुख्यालय भवन को ब्यूरो ऑफ

व्यवहार कुशल, संस्कार और संस्कृति को निभाने वाली है राजस्थान की ब्यूरोक्रेसी - मुख्यमंत्री

Image
जयपुर । मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि संवेदनशील और पारदर्शी सरकार बनाने में राजस्थान की ब्यूरोक्रेसी की अहम भूमिका है। राजस्थान की ब्यूरोक्रेसी बहुत व्यवहार कुशल है। संस्कार और संस्कृति को निभाने वाली है। इसलिए ब्यूरोक्रेसी की तारीफ भी होनी चाहिए। सभी अधिकारियों को श्रेय देता हूं जिनके अथक प्रयासों से बजट घोषणाएं धरातल पर उतरने लगी है। मुझे पूरा विश्वास है कि प्रदेशवासियों को उनका पूरा लाभ मिलेगा।   गहलोत गुरूवार को हरीशचंद्र माथुर राज्य लोक प्रशासन संस्थान में लोक सेवा दिवस- 2022  के समापन समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा कई योजनाएं लागू की गई है ,  उनका लाभ प्रदेश की हर गांव-ढाणी तक पहुंचे ,  इसके लिए सभी अधिकारी प्रयास करें। उन्होंने कहा कि प्रदेश में अधिकारियों-कर्मचारियों के लिए ओल्ड पेंशन स्कीम लागू की। इसकी पूरे देश में चर्चा हो रही है। राजस्थान के बाद अब कई राज्य सरकारें भी इसे लागू करने की योजना बना रही है। कई राज्यों से अधिकारी जानकारी लेने के लिए राजस्थान में आ रहे हैं। मुख्यमंत्री ने प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा समारोह में दी गई सांस्कृतिक प