Posts

Showing posts from September, 2021

Featured Post

स्वर्गीय श्रीमती सुप्यार कंवर की 35वीं पुण्यतिथि पर आमरस एवं भजनामृत गंगा कार्यक्रम का हुआ भव्य आयोजन

Image
जयपुर। स्वर्गीय श्रीमती सुप्यार कंवर की 35वीं पुण्यतिथि पर सुप्यार देवी तंवर फाउंडेशन के तत्वावधान में रविवार, 19 मई, 2024 को कांवटिया सर्कल पर भावपूर्ण भजन संध्या का आयोजन के साथ आमरस प्रसादी का वितरण किया गया।  कार्यक्रम में प्रतिभाशाली कलाकारों की आकाशीय आवाजें शांत वातावरण में गुंजायमान हो उठीं, जो उपस्थित लोगों के दिलों और आत्मा को छू गईं। इस अवसर पर स्थानीय जनप्रतिनिधि, आईएएस राजेंद्र विजय, एडिशनल एसपी पूनमचंद विश्नोई, सुरेंद्र सिंह शेखावत, अनिल शर्मा, के.के. अवस्थी, अन्य वरिष्ठ अधिकारीगण सहित सुप्यार देवी तंवर फाउंडेशन के अध्यक्ष राधेश्याम तंवर, उपाध्यक्ष श्रीमती मीना कंवर, मंत्री मेघना तंवर, कोषाध्यक्ष अजय सिंह तंवर एवं गणमान्य अतिथिगण उपस्थित रहे।

सूर्य उदय संस्था ने बांटे वस्त्र, फल और खाद्य सामग्री

Image
आंगनवाड़ी महिलाओं को पोषण वितरण... जयपुर।  सूर्य उदय संस्था की ओर से झोटवाड़ा के आंगनवाड़ी केंद्र सेन कॉलोनी के सेंटर पर गर्भवती महिलाओं को पोषण वितरण किया गया। इस दौरान संस्था की अध्यक्ष शोभल सिंह ने महिलाओं को बारी- बारी से वस्त्र फल और विटामिन वाले खाद्य पदार्थ उपलब्ध कराए। उन्होंने बताया कि पोषण सभी महिलाओं और बच्चों तक आसानी से पहुंच सके इसी क्रम में इसका आयोजन किया गया जिससे वंचितों को भी लाभ समय पर उपलब्ध हो सके।  कार्यक्रम में आंगनवाड़ी की सहयोगिनी इंदु कंवर, अनीता माथुर, रचना शर्मा, आशा शर्मा और लक्ष्मी देवी सहित अनेक महिलाएं शामिल हुई। उन्होंने पोषण ग्रहण करने वाली महिलाओं को एक-एक कर पोषण वितरण में सहयोग किया। शोभल सिंह ने बताया कि संस्था की ओर से इस तरह के आयोजन लगातार किए जाएंगे जिससे सभी वर्ग की महिलाओं को लाभ मिल सके।

प्रेम की राजस्थानी कहानी को रमा मेहता लेखन पुरस्कार

Image
जयपुर। जयपुर की नवोदित साहित्यकार प्रेम लता की राजस्थानी कहानी ‘‘रावण खंडी’’ को साहित्यकार एवं समाजशास्त्री रमा मेहता की स्मृति में आयोजित महिला लेखन प्रतियोगिता में पुरस्कृत किया गया है। पुरस्कार में 25 हजार रुपए एवं प्रमाण पत्र दिया जाएगा। प्रसिद्ध पत्रकार एवं लेखिका मृणाल पांडे ने इसकी घोषणा की। रमा मेहता की 98 जयंती पर हुए कार्यक्रम में जानी मानी लेखिका और पत्रकार मृणाल पांडे ने हिंदी पत्रकारिता पर अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि पत्रकार में राज व समाज की आंख में आंख डालकर देखने का साहस होना चाहिए। बदलते परिवेश में पत्रकारों को भाषा, तकनीक इत्यादि से अपने ज्ञान को अद्यतन करना चाहिए और आमजन से संवाद स्थापित करते हुए एक लोकतांत्रिक समाज की स्थापना में अपनी भूमिका निभानी चाहिए। देशभर से प्राप्त रचनाओं में से निर्णायक मंडल ने हिंदी में प्रदीपिका सारस्वत,  राजस्थानी में प्रेम लता, उर्दू में शहनाज यूसुफ व अंग्रेजी में यशस्वी गौर को पुरस्कार के लिए चयनित किया। निर्णायक मंडल में साहित्यकार इरा पांडे, अनुकृति उपाध्याय, अनीश जैदी, मनीषा कुलश्रेष्ठ, नीता गुप्ता, सरवत खान, डॉ वेददान सुधीर व

जरूरतमंद दृष्टिहीनों को राशन वितरण

Image
उद्भव विजन फाउंडेशन ने मनाया स्थापना दिवस जयपुर। उद्भव विजन फाउंडेशन की ओर से स्थापना दिवस पर जरूरतमंद दृष्टिहीनोंको राशन वितरण किया गया इस अवसर पर बड़ी संख्या में जरूरतमंद दृष्टिहीन अपने परिजनों के साथ समारोह में उपस्थित हुए और से सहर्ष राशन सामग्री ग्रहण की।  संस्था के संस्थापक सचिव चेतन शर्मा ने बताया कि इस मौके पर अनेक जरूरतमंद आमंत्रण पर पहुंचे जिन्हें राशन सामग्री प्रदान की गई इस मौके पर दृष्टिहीन बालिकाओं के लिए स्कॉलरशिप योजना का भी शुभारंभ किया गया जिसमें दृष्टिहीन बालिका फाउंडेशन की वेबसाइट udbhav.org के माध्यम से स्कॉलरशिप के लिए आवेदन कर सकती हैं।  समारोह में फाउंडेशन के वरिष्ठ उपाध्यक्ष शरद त्रिपाठी उपाध्यक्ष शाहरुख खान ने भी अपने विचार व्यक्त किए और फाउंडेशन की ओर से चलाए जा रहे समाज सेवा से संबंधित कार्यों की जानकारी उपलब्ध कराई  समारोह में सम्मानीय अतिथि के रूप में साइट सेवर्स के विभिन्न पदाधिकारी भी उपस्थित रहे उपस्थित सभी सम्मानीय लोगों ने फाउंडेशन दिवस पर विशेष तरह के आयोजन करने की सराहना की जिससे किसी जरूरतमंद को लाभ मिल सके

प्रदेश में हिंदी साहित्य को नए आयाम दिये तलवार ने

Image
जयपुर। वरिष्ठ पत्रकार एवं साहित्यकार स्व. ईशमधु तलवार की स्मृति में श्रमजीवी पत्रकार संघ और कलमकार मंच की ओर से बुधवार को रखी गई श्रद्धांजलि सभा में वरिष्ठ पत्रकारों और साहित्यकारों ने उनके व्यक्तित्व और कृतित्व पर अपने विचार व्यक्त किये। उपस्थित बुद्धिजीवियों ने समवेत रूप से इस बात को स्वीकारा कि विलक्षण प्रतिभा के धनी स्व. तलवार ने पीएलएफ के जरिए प्रदेश में हिंदी साहित्य को नए आयाम दिये और उसे बुलंदियों पर पहुँचाया। उनके पुत्र अनीश तलवार की मौजूदगी में हुई इस सभा में वरिष्ठ साहित्यकार फारूक आफरीदी, लोकेश कुमार सिंह ‘साहिल’,  राजाराम भादू, उमा, तसनीम खान, कलमकार मंच के राष्ट्रीय संयोजक निशांत मिश्रा, फिल्मकार गजेन्द्र एस. श्रोत्रिय, भागचंद गुर्जर, अशोक राही, वरिष्ठ पत्रकार जगदीश शर्मा, सुनीता चतुर्वेदी, श्रमजीवी पत्रकार संघ के अध्यक्ष हरीश गुप्ता, उपाध्यक्ष राजेन्द्र शर्मा, पिंकसिटी प्रेस क्लब के अध्यक्ष मुकेश मीणा, महासचिव रामेन्द्र सोलंकी, सुनील शर्मा, मुकेश चौधरी सहित बड़ी संख्या में उपस्थित साहित्यकारों, पत्रकारों व रंगकर्मियों ने अपने उद्बोधन में उनकी यादों को व्यक्त करते हुए श्

सामाजिक दूरियां मिटाने में साहित्यकारों की अहम भूमिका - पंकज सुबीर

Image
जयपुर। ख्यातनाम कथाकार और साहित्य कार पंकज सुबीर का मानना है कि वर्तमान समय में समाज में बढ़ रही वैमनस्यता और सामाजिक दूरियों को कम करने की दिशा में साहित्यकार ऐसा लेखन करें जिससे समाज में बढ़ रही खाई को पाटा जा सके। सुबीर आज त्रिमूर्ति के रंग चौबारा में शायर लोकेश कुमार सिंह साहिल के साथ एक परिचर्चा में अपनी बात कह रहे थे। उन्होंने कहा कि आज का समय हम सबके लिए विषम परिस्थितियों वाला है और समाज में बढ़ रही आपसी कटुता सामाजिक वैमनस्यता और बढ़ती खाई को कम करना जरूरी है इसी कारण समाज में आपसी भाईचारा भी कम हो रहा है और व्यक्ति और परिवार अपने आप को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। सुबीर का कहना था कि साहित्य ही एक ऐसी विधा है जो बढ़ती सामाजिक असुरक्षा को एक सूत्र में बांध सकती है इसलिए साहित्यकारों का यह नैतिक कर्तव्य है कि वे आज के समय की मांग को देखते हुए ऐसे साहित्य का सृजन करें जिससे लोगों में विश्वास और प्रेम जागृत हो। नामचीन शायर लोकेश कुमार सिंह साहिल ने पंकज सुबीर से सहज रूप से बात करते हुए अनेक ऐसे प्रश्न पूछे जो आज की परिस्थितियों के अनुकूल ही रहे उन्होंने साहित्यकारों की अहम भूमिका और सा

नेट-थियेट पर मंजरी किरण ने दिखाया कथक का लालित्य

Image
गोपाल राधे श्याम, गोपाल हरी महारास पर कत्थक की शानदार प्रस्तुति... जयपुर। नेट-थियेट पर कथक गुरू मंजरी किरण ने जयपुर घराने की कथक पंरपरा को साकार किया। जयपुर घराने के कथक का तात्पर्य राजस्थानी परंपरा से है। उन्होंने कथक के तोडों पर अपनी विभिन्न मुद्राओं से जयपुर कथक के लालित्य को दर्शाया।  नेट-थियेट के राजेंद्र शर्मा राजू ने बताया कि मंजरी किरण की शिष्याओं ने कठिन लयकारियों के साथ कथक के सात्विकभाव को प्रदर्शित कर जयपुर कथक घराने की परंपरा को जीवंत किया। कार्यक्रम की शुरूआत गणपती वंदना से हुई। उन्होंने र्कीतन "धनी वृंदावन धाम है धनी वृंदावन नाम है" जैसे चर्चित पदों पर कथक की प्रस्तुति से  दर्शकों का मन मोह लिया। कार्यक्रम में महारास प्रस्तुति "गोपाल राधे श्याम, गोविंद हरि" पर कथक की बारीकियां व तकनीक को उजागर किया।  उनकी शिष्याओं अदिति शर्मा,  दिशा भट, रिदम खण्डेलवाल, केतकी अग्रवाल एवं अंजना पिल्लई ने तीन ताल मे जयपुर कथक घराने का शुद्ध कथक जिसमें आमद, परम, तिहाई ,चक्करदार बंदिशों का प्रदर्शन किया।   संगीत विष्णु कुमार जांगिड, प्रकाश अंकित जांगिड व  दृश्य  सज्जा मनोज

वरिष्ठ पत्रकार एवं साहित्यकार ईशमधु तलवार का निधन

Image
जयपुर। हिंदी एवं अन्य क्षेत्रीय भाषाओं को पीएलएफ के जरिये बड़ा मंच प्रदान करने वाले वरिष्ठ पत्रकार एवं साहित्यकार ईशमधु तलवार का बीती रात हृदयघात के कारण निधन हो गया। महारानी फार्म मोक्षधाम शुक्रवार दोपहर हुए अंतिम संस्कार में उनके पुत्र अनीश ने मुखाग्नि दी। अंतिम संस्कार में बड़ी संख्या में पत्रकार व साहित्यकार मौजूद थे। देश के अनेक प्रमुख समाचार पत्रों में कार्य कर चुके 67 वर्षीय श्री तलवार की बतौर लेखक राजकमल प्रकाशन से संगीतकार दानसिंह पर लिखी 'वो तेरे प्यार का गम' और उपन्यास 'रिनाला खुर्द' तथा कलमकार मंच से कहानी संग्रह 'लाल बजरी की सड़क' किताबें प्रकाशित हो चुकी हैं। कहानी संग्रह 'लाल बजरी की सड़क' पर उन्हें भाषा विभाग, राजस्थान से 'हिंदी सम्मान', अमर उजाला के 'शब्द सम्मान' और हाल ही 'विजयदान देथा सम्मान' से अलंकृत किया जा चुका है। राजस्थान प्रगतिशील लेखक संघ के महासचिव और कलमकार मंच के संरक्षक ईशमधु तलवार पिंकसिटी प्रेस क्लब व श्रमजीवी पत्रकार संघ के अध्यक्ष भी रह चुके थे। उनके निधन पर लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला, मुख्यमंत्री

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी से राधा अष्टमी तक चली राधा कृष्ण श्रृंगार प्रतियोगिता

Image
जयपुर। हरे कृष्ण मुवमेंट, जगतपुरा के तत्वावधान में राधा कृष्ण श्रृंगार प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। श्रीकृष्ण जन्माष्टमी से प्रारंभ हुई प्रतियोगिता राधा अष्टमी तक चली । इस प्रतियोगिता में 1 माह के बच्चे से लेकर 13 वर्ष तक के बच्चों ने बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया। इस प्रतियोगिता का पुरस्कार वितरण समारोह कल हरे कृष्ण मंदिर में आयोजित किया गया। समारोह की अध्यक्षता श्री प्राण वल्लभ दास जी ने की। उन्होंने अभिभावकों को बताया की आज के परिवेश में बच्चों के अन्दर अध्यात्मिक तथा नैतिक प्रगति की अत्यंत आवश्यकता है और इसके विकास के लिए मंदिर में सांस्कृतिक शिक्षा विभाग है जो बच्चों में नैतिक शिक्षा  के लिए कार्यरत है। विभाग द्वारा प्रतिवर्ष ग्रीष्मकालीन कैम्प तथा अन्य कई प्रतियोगिताएं भी आयोजित की जाती हैं। राधा कृष्ण श्रृंगार प्रतियोगिता में बच्चों व उनके अभिभावकों की रूचि को देखते प्रतिभागियों की फोटो कृष्णा किड्स के फेसबुक पेज पर दर्शकों के द्वारा चुने गए तथा जूरी चॉइस के लिए दो अलग अलग भागों में बांटा गया, विजेताओं को तीन आयु वर्ग में विभाजित किया गया जिसमें जूरी चॉइस के अंतर्गत सबसे छोटे बच्चे सब

जयपुर के राजाराम भादू साहित्य श्री और उमा महिला लेखन पुरस्कार से अलंकृत

Image
कृष्ण कुमार, मोनिका गौड़ और डॉ. वीरेन्द्र विद्रोही भी हुए सम्मानित जयपुर। साहित्यिक संस्था राष्ट्रभाषा हिन्दी प्रचार समिति, डूंगरगढ़ की ओर से श्रीडूंगरगढ़ महाविद्यालय में आयोजित सृजन पुरस्कार समारोह में जयपुर के वरिष्ठ साहित्यकार व समीक्षक राजाराम भादू एवं किस्सागोई फेम लेखिका उमा सहित अन्य लोगों को विभिन्न सम्मान से अलंकृत किया गया। इस अवसर पर ‘हिन्दी जन भाषा से राजभाषा की यात्रा’ पर संगोष्ठी भी हुई। समारोह में मुख्य अतिथि राजस्थान मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष गोपाल कृष्ण व्यास थे, अध्यक्षता वरिष्ठ समालोचक मालचन्द तिवाड़ी ने की तथा विशिष्ट अतिथि जोधपुर के साहित्यकार दशरथ सोलंकी थे। समारोह में सामाजिक सराकारों के लिए मलाराम माली स्मृति साहित्यश्री सम्मान से राजाराम भादू और शिव प्रसाद सिखवाल स्मृति महिला लेखन पुरस्कार से उमा को अलंकृत किया गया। इनके अलावा डॉ. नन्दलाल महर्षि स्मृति हिन्दी सृजन पुरस्कार श्रीगंगानगर के डॉ.कृष्ण कुमार आशु, पं. मुखराम सिखवाल स्मृति राजस्थानी साहित्य सृजन पुरस्कार बीकानेर की मोनिका गौड़ व रामकिशन उपाध्याय स्मृति समाज सेवा सम्मान अलवर के डॉ. वीरेन्द्र विद्रोही