Posts

Showing posts from May, 2021

Featured Post

स्वर्गीय श्रीमती सुप्यार कंवर की 35वीं पुण्यतिथि पर आमरस एवं भजनामृत गंगा कार्यक्रम का हुआ भव्य आयोजन

Image
जयपुर। स्वर्गीय श्रीमती सुप्यार कंवर की 35वीं पुण्यतिथि पर सुप्यार देवी तंवर फाउंडेशन के तत्वावधान में रविवार, 19 मई, 2024 को कांवटिया सर्कल पर भावपूर्ण भजन संध्या का आयोजन के साथ आमरस प्रसादी का वितरण किया गया।  कार्यक्रम में प्रतिभाशाली कलाकारों की आकाशीय आवाजें शांत वातावरण में गुंजायमान हो उठीं, जो उपस्थित लोगों के दिलों और आत्मा को छू गईं। इस अवसर पर स्थानीय जनप्रतिनिधि, आईएएस राजेंद्र विजय, एडिशनल एसपी पूनमचंद विश्नोई, सुरेंद्र सिंह शेखावत, अनिल शर्मा, के.के. अवस्थी, अन्य वरिष्ठ अधिकारीगण सहित सुप्यार देवी तंवर फाउंडेशन के अध्यक्ष राधेश्याम तंवर, उपाध्यक्ष श्रीमती मीना कंवर, मंत्री मेघना तंवर, कोषाध्यक्ष अजय सिंह तंवर एवं गणमान्य अतिथिगण उपस्थित रहे।

प्रदेश में 2 जून से मॉडिफाइड लॉकडाउन

Image
व्यावसायिक गतिविधियों को सीमित छूट बुधवार से आगामी आदेशों तक लागू होगा त्रि-स्तरीय जन अनुशासन मॉडिफाइड लॉकडाउन  जयपुर। राज्य सरकार ने अधिकतर जिलों में कोविड संक्रमण के प्रसार में कमी तथा पॉजिटिविटी दर में गिरावट के दृष्टिगत व्यावसायिक एवं अन्य गतिविधियों में राहत देने के लिए 2 जून से आगामी आदेशों तक त्रि-स्तरीय जन अनुशासन मॉडिफाइड लॉकडाउन लागू किए जाने का निर्णय लिया है। मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद गृह विभाग ने इस संबंध में सोमवार को नए दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं। मॉडिफाइड लॉकडाउन के दिशा-निर्देशों में विभिन्न गतिविधियों के लिए छूट उन्हीं स्थानों पर दी जा सकेगी, जहां पॉजिटिविटी दर 10 प्रतिशत से कम होगी अथवा ऑक्सीजन, आईसीयू एवं वेंटीलेटर बेड का उपयोग 60 प्रतिशत से कम होगा।  नई गाइडलाइन में पॉजिटिव केस के अनुरूप ग्राम पंचायत एवं जिले को तीन श्रेणियों ग्रीन, येलो और रेड में बांटा गया है। जिन ग्राम पंचायतों में एक भी पॉजिटिव केस नहीं होगा, वह ग्रीन श्रेणी में होगी तथा 5 और इससे कम एक्टिव केस होने पर येलो तथा 5 से अधिक एक्टिव केस होने पर रेड श्रेणी में रखा जाएगा। इसी प्रकार एक लाख जनसं

कोविड के दौरान कृषि ने दिया संबल, लंबित कृषि विद्युत कनेक्शनों के लिए विशेष योजना बनाएं - मुख्यमंत्री

Image
विद्युत वितरण निगम की समीक्षा बैठक ... जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि कृषि क्षेत्र ने कोविड-19 महामारी के दौर में प्रदेश की अर्थव्यवस्था को संबल प्रदान किया है। राज्य सरकार भी कृषि क्षेत्र को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से आने वाले दिनों में अधिकाधिक कृषि बिजली कनेक्शन जारी करेगी। इसके लिए उन्होंने विद्युत वितरण निगमों को विशेष योजना बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि वितरण नेटवर्क की मौजूदगी वाले क्षेत्रों में घरेलू कनेक्शन की पेंडिंग लिस्ट के अनुसार कनेक्शन जारी किए जाएं। गहलोत ने रविवार को मुख्यमंत्री निवास पर विद्युत वितरण निगमों की समीक्षा बैठक के दौरान अधिकारियों से कहा कि वे जल्द-से-जल्द लंबित कृषि कनेक्शन जारी करने के प्रयास करें, क्योंकि आगामी दिनों में मानसून के बाद नए फसल सीजन के लिए बिजली की मांग बढ़ने वाली है। उन्होंने कहा कि विद्युत कंपनियों द्वारा सभी उपभोक्ताओं की शिकायतों का त्वरित एवं तार्किक समाधान किया जाए।  मुख्यमंत्री ने विद्युत जनित दुर्घटनाओं को रोकने और आमजन की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक है कि बाजारों आदि में झूलते तारों कोे ठीक करने और

एलोपैथी के साथ आयुर्वेद, यूनानी और होम्योपैथिक चिकित्सा पद्धतियों का भी लिया जा रहा सहयोग

Image
लगभग एक माह में 32 लाख से ज्यादा लोगों ने पिया औषधीय युक्त काढ़ा जयपुर। प्रदेश में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए एलोपैथी  के साथ आयुर्वेद, यूनानी और होम्योपैथिक जैसी वैकल्पिक चिकित्सा पद्धति का भी भरपूर सहयोग लिया जा रहा है। आयुर्वेद मंत्री डॉ रघु शर्मा ने बताया कि प्रदेश में 18 अप्रैल से 28 मई तक 32 लाख से ज्यादा लोगों को आयुर्वेद विभाग द्वारा औषधि युक्त काढ़ा वितरण किया गया। उन्होंने बताया कि करीब 9 लाख 86 हजार से ज्यादा व्यक्ति रोग प्रतिरोधक औषधियों से लाभान्वित किए गए। विभाग द्वारा करीब 47 हजार लोगों को हेल्पलाइन सेवाओं के जरिए परामर्श दिया गया। आयुर्वेद मंत्री ने बताया कि इस दौरान जिला प्रशासन एवं चिकित्सा विभाग के अंतर्गत 1718 चिकित्सकों, नर्सेज और अन्य कार्मिकों द्वारा सेवाएं दी जा रही हैं। उन्होंने बताया कि आयुर्वेद विभाग से 1603, होम्योपैथी से 82, यूनानी में 33 कार्मिक कोरोना काल में अपनी सेवाएं दे रहे हैं।

लोक कलाकारों को राशन किट बांटकर की मदद

Image
पिंकसिटी की पहचान बनाने में लोक कलाकारों का अमूल्य योगदान– विष्णु मित्तल जयपुर। गुलाबी नगरी के लोक कलाकारों ने ना केवल राज्य की संस्कृति को रोशन किया है बल्कि दुनियाभर में राजस्थान प्रदेश की विशेष पहचान बनाने में अपना अमूल्य योगदान भी दिया है।  वहीं एक तरफ कोविड महामारी ने लोक कलाकारों से इनका रोज़गार छीन लिया है। वहीं दूसरी तरफ ऐसी विकट परिस्थिति में इनको अपना जीवन यापन करने भी कई समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में कई समाजसेवी एवं संस्थाएं आगे बढ़कर इन कलाकारों की मदद कर रही हैं। ऐसी ही एक संस्था है 'आओ साथ चलें' जो कि दिल्ली में भाजपा के कोषाध्यक्ष विष्णु मित्तल द्वारा संचालित है। इस संस्था की तरफ से बुधवार को शहर के शास्त्री नगर स्थित कलाकार कॉलोनी में लोक कलाकारों को राशन के कुल 800 किट बांटे गए। इस दौरान पेशे से व्यवसायी विष्णु मित्तल ने कहा कि उन्हें मीडिया के जरिए मालूम हुआ था कि पिंकसिटी के कलाकार कॉलोनी में रहने वाले लोक कलाकार राशन से वंचित हैं। ये खबर पढ़ने के बाद उनकी संस्था की टीम ने जल्द से जल्द साधन जुटाकर  लोक कलाकारों की मदद करने पहुंच गई। इस मौके पर अनं

जरूरतमंदों को बांटे मास्‍क

Image
  जयपुर। सोनू हेल्पिंग हैंड ट्रस्‍ट के तत्‍वावधान में सोशल एक्टिविस्‍ट लविश्का सैनी ने सरकारी गाइड लाइंस की पालना करते हुए दहलावास हनुमानजी मंदिर के पास स्थित कच्‍ची बस्‍ती में जरूरतमंद लोगों को मास्‍क बांटे।  इस दौरान सभी लोगों को कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए भी जागरूक किया गया। इस अवसर पर लविश्‍का सैनी ने कोरोनाकाल में सभी से मास्‍क लगाने और सोशल डिस्‍टेंसिंग रखने की अपील की। वहीं सोनू हेल्पिंग हैंड ट्रस्‍ट की अध्यक्षा डॉ. सुनीता छाबड़ा ने कोरोना से बचाव की जानकारी सभी लोगों को दी। इस कार्य में सोनू हेल्पिंग हैंड ट्रस्‍ट की उपाध्‍यक्ष ममता सैनी, कृष्‍णा महावर सहित अन्य लोगों का सहयोग रहा।

कोरोना महामारी में जरूरतमंदों की मदद कर रही हैं रुपिना सिंह

Image
समाजसेवा के लिए कई बार हो चुकी हैं सम्मानित... जयपुर। कोरोनाकाल में लाखों ऐसे परिवार हैं, जो दो वक्त का भोजन जुटाने में भी असक्षम हैं इसलिए महामारी की ऐसी विकट परिस्थिति में किसी भी व्यक्ति के आसपास कोई जरूरतमंद नजर आए तो उसकी मदद जरूर करें, क्योंकि जरूरतमंदों की मदद करना ही सबसे बड़ा पुण्य है। यह कहना है नारी शक्ति फाउन्डेशन की फाउंडर समाजसेविका रुपिना सिंह शेखवात का, जो कि गतवर्ष की तरह इस वर्ष भी लॉक डाउन लागू होने के बाद से ही अपनी महिला टीम के साथ समय-समय पर भोजन और मास्क तैयार करवाकर शहर की विभिन्न इलाकों में जरूरतमंदों को निशुल्क बांटकर समाजसेवा कर रही हैं। साथ ही वह बस्तियों में जाकर लोगों को कोरोना वायरस से बचने के लिए महत्वपूर्ण सुझाव भी दे रही हैं। समाजसेविका रुपिना का कहना है कि जब तक लोगों में जागरूकता नहीं आएगी तब तक लोग स्वयं के प्रति भी सचेत नहीं होंगे इसलिए लोगों का अवेयर होना बहुत जरूरी है। समाजसेवी रुपिना सिंह ने लोगों की ज्यादा से ज्यादा मदद करने के साथ ही उनको जागरूक करने का बीड़ा भी उठाया है। इस सेवा कार्य के लिए वह अपनी टीम के सदस्यों को भी बताती रहती हैं। साथ ही

लॉयन्स क्लब जयपुर विद्याधर नगर के पुनः अध्यक्ष बने पवन अग्रवाल

Image
वर्ष 2021-22 के लिए क्लब की नई कार्यकारिणी मनोनीत जयपुर। लॉयन्स क्लब जयपुर विद्याधर नगर के सभी सदस्यो नें एक मत से पवन अग्रवाल को वर्ष 2020-21 में उनके द्वारा किए गए शानदार कार्यों को देखते हुए वर्ष 2021-22 के लिए पुनः अध्यक्ष मनोनीत किया है। गौरतलब है कि पवन अग्रवाल को उनके बेहतरीन सेवा कार्य के लिए राजस्थान के राज्यपाल एवं मुख्यमंत्री की तरफ से प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित भी किया जा चुका है। लायंस क्लब जयपुर विद्याधर नगर के सभी मेम्बर्स की एनुअल जनरल मीटिंग आयोजित कर वर्ष 2021-22 के लिए क्लब की नई कार्यकारिणी मनोनीत की गई है। साधारण सभा में नॉमिनेशन कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर वर्ष 2021-22  के लिए नव कार्यकारिणी में पवन अग्रवाल को पुनः अध्यक्ष मनोनीत किया गया है। इसके लिए क्लब के सभी  सदस्यों ने उन्हें हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दी है। नव कार्यकारिणी में अध्यक्ष पद पर लायन पवन अग्रवाल, सचिव पद पर लायन अजय अग्रवाल, कोषाध्यक्ष पद लायन मोहित चिरानिया, क्लब मेम्बरशिप चैयरपर्सन पद पर लायन निशा गोयल व  मुख्य सलाहकार पद पर पंकज पुलासरिया को मनोनीत किया गया है। इस अवसर पर लायन पवन अग्रवाल न

सरकार की नीतियों से बना निवेश का बेहतर माहौल - मुख्यमंत्री

Image
सेंट गोबेन प्रदेश मेें बढ़ाएगा निवेश  जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार के प्रयासों से राजस्थान निवेश के लिए सर्वाधिक अनुकूल राज्य के रूप में उभर रहा है। सरकार के नीतिगत फैसलों के साथ-साथ कानून-व्यवस्था की बेहतर स्थिति, अच्छी सड़कें, ऊर्जा में आत्मनिर्भरता, पर्याप्त मात्रा में कच्चे माल की उपलब्धता, सुदृढ़ आधारभूत ढांचे के कारण दुनिया की नामी कंपनियां राजस्थान में निवेश के लिए रूचि दिखा रही हैं। राज्य सरकार भी यहां आने वाले उद्योगों को भरपूर प्रोत्साहन देगी।  गहलोत गुरूवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से विश्व की प्रमुख ग्लास निर्माता कंपनी सेंट गोबेन के प्रदेश में निवेश के विस्तार के प्रस्ताव के संबंध में बैठक को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि सेंट गोबेन जैसी प्रतिष्ठित कंपनी द्वारा राजस्थान में भिवाड़ी स्थित प्लांट में अभी तक करीब 1200 करोड़ रूपए के सफल निवेश के बाद निवेश में विस्तार का प्रस्ताव देना यह सिद्ध करता है कि राजस्थान के प्रति अंतर्राष्ट्रीय कंपनियों में भरोसा कायम हुआ है। उन्होंने कहा कि उद्योगों के लिए एमएसएमई एक्ट, रिप्स-2019, नई उद्योग नीति, वन

प्रदेश के 28 अस्पतालों में हो सकेगा ब्लैक फंगस का उपचार

Image
राज्य सरकार ने किया 3 अन्य अस्पतालों को ब्लैक फंगस के उपचार के लिए अधिकृत जयपुर। चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने प्रदेश में म्यूकोरमायकोसिस (ब्लैक फंगस) के बढ़ते मामलों को देखते इसके उपचार के लिए अधिकृत अस्पतालों का दायरा बढ़ाकर 25 से 28 कर दिया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के 3 अन्य अस्पतालों को भी इलाज के लिए अधिकृत किया गया है। डॉ शर्मा ने कहा कि ब्लैक फंगस के लिए अधिकृत अस्पतालों की संख्या शुरुआत में 20 थी। मरीजों के अनुपात में अस्पतालों की संख्या में बढ़ोतरी करते हुए इन्हें 25 किया। मरीजों को आसपास के क्षेत्र में ब्लैक फंगस के उपचार की सुविधा के लिए आज राजस्थान स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय दंत विज्ञान महाविद्यालय, जयपुर, निम्स हॉस्पीटल, जयपुर और महावीर ईएनटी हॉस्पीटल, कोटा को भी अधिकृत किया है। उन्होंने बताया कि अब प्रदेश के 28 अस्पतालों में मरीज ब्लैक फंगस का इलाज निर्धारित दरों पर करवाया जा सकता है। इन 28 अधिकृत अस्पतालों में ही किया जा सकेगा उपचार चिकित्सा मंत्री ने बताया कि ब्लैक फंगस के उपचार के लिए लिए प्रदेश कि 28 अस्पतालों को ही अधिकृत किया गया है। इनमें सवाई मानसिंह मेड

अब तक हुए 22 हजार 253 एंटीजन टेस्ट में 728 व्यक्ति पॉजिटिव - चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री

जयपुर। प्रदेश में कोविड की रोकथाम व उपचार के प्रयासों के तहत 17 मई से प्रारंभ किए गए मोबाइल मेडिकल वैन द्वारा गांव-गांव जाकर किए जा रहे एंटीजन टेस्ट के तहत अब तक 22 हजार 253 एंटीजन टेस्ट  किए गए है। एंटीजन टेस्ट में अब तक 728 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए है। यह कुल किए गए टेस्ट का 3.27 प्रतिशत है।  चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने बताया कि चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा सभी जिलों के प्रत्येक खंड में ग्राम पंचायतवार मोबाइल मेडिकल यूनिट, मोबाइल मेडिकल वैन या बेस एम्बुलेंस भिजवाकर चिकित्सा अधिकारियों एवं पैरामेडिकल स्टाफ द्वारा एंटीजन टेस्ट किए जा रहें है। औसत रूप से प्रत्येक जिले में प्रतिदिन 1 हजार एंटीजन टेस्ट किए जा रहें है।  डॉ. शर्मा ने बताया कि ग्राम स्तर पर आईएलआई मरीजों की पहचान की जा रही है इन मरीजों को आइसोलेशन करने एवं एंटीजन टेस्ट किए जा रहे है। एंटीजन टेस्ट पॉजिटिव पाए जाने पर संबंधित मरीजों का आरटी पीसीआर टेस्ट करने एवं अग्रिम चिकित्सा संस्थानों में भिजवाकर उपचार कराने के निर्देश दिए गए है।  चिकित्सा मंत्री ने बताया कि अब तक हुए एंटीजन टेस्ट में नागौर जिले में

राजस्थान में वैक्सीन का वेस्टेज मात्र 2 प्रतिशत - चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री

Image
26 मई 2021 तक राजस्थान में कोविन एप के अनुसार 1 करोड़ 63 लाख 67 हजार 230 लाभार्थियों को कोविड का टीका लगाया जा चुका है जयपुर। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने बताया कि राजस्थान में वैक्सीन की वेस्टेज देश में न्यूनतम है। उन्होंने बताया कि केन्द्र द्वारा कोविड वैक्सीन का 10 प्रतिशत वेस्टेज अनुमत है। इसकी तुलना में राजस्थान में वैक्सीन का वेस्टेज मात्र 2 प्रतिशत है।  डॉ. शर्मा ने कहा कि 26 मई 2021 तक राजस्थान में कोविन एप के अनुसार 1 करोड़ 63 लाख 67 हजार 230 लाभार्थियों को कोविड का टीका लगाया जा चुका है। जबकि ईकृविन एप पर 1 करोड़ 70 लाख 1 हजार 220 डोजेज की खपत दर्ज की गई है। अत: 6 लाख 33 हजार 990 डोजेज का वास्तव में वेस्टेज नही है बल्कि 2.95 लाख डोजेज का ईकृविन में दो बार गलती से इंद्राज हुई है। वास्तव में मात्र 3.38 लाख डोजेज की वेस्टेज हुई है जो कि उपयोग में ली गई कुल डोजेज का मात्र 2 प्रतिशत है। दोनों एप केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा ही संचालित है। चिकित्सा मंत्री ने बताया कि 18 से 44 आयवुर्ग के लिए सीरम इंस्टीट्यूट से प्राप्त कोविशिल्ड की 14 लाख 94 हजार डोजेज प्राप्त

पेयजल परियोजनाओं के निर्माण में पीएचईडी एवं डब्ल्यूआरडी के स्तर पर संयुक्त विमर्श जरूरी - जलदाय मंत्री

Image
जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी एवं जल संसाधन विभाग की बैठक जयपुर। जलदाय मंत्री डॉ. बी. डी. कल्ला की अध्यक्षता में प्रदेश में जल जीवन मिशन के तहत मेजर प्रोजेक्ट्स के तहत पेयजल परियोजनाओं के लिए ‘वाटर रिजर्वेशन‘ के बारे में जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग (पीएचईडी) एवं जल संसाधन विभाग (डब्ल्यूआरडी) के अधिकारियों की संयुक्त बैठक गुरूवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग (वीसी) के माध्यम से आयोजित की गई। बैठक में जलदाय मंत्री डॉ. कल्ला ने कहा कि भविष्य में प्रदेश में जल जीवन मिशन (जेजेएम) के तहत पेयजल परियोजनाओं के निर्माण के समय जल स्रोत की उपलब्धता के बारे में पीएचईडी और डब्ल्यूआरडी के स्तर पर व्यापक चर्चा और सहमति बनाई जाए ताकि उन प्रोजेक्ट्स के माध्यम से जनता को लम्बे समय तक बिना किसी व्यवधान के लाभान्वित किया जा सके। उन्होंने कहा कि जेजेएम के तहत प्रदेश के सभी ग्रामीण परिवारों को वर्ष 2024 तक हर घर नल कनैक्शन देकर पेयजल उपलब्ध कराना राज्य सरकार की सर्वाेच्च प्राथमिकता है, इसके लिए जलदाय विभाग द्वारा सघन प्रयास किए जा रहे हैं। राज्य में भू-जल की सीमित मात्रा को देखते हुए यह जरूरी है कि जेजेएम के तहत

मानसून में मनरेगा के तहत वृहद स्तर पर हो पौधारोपण का कार्य- मुख्यमंत्री

Image
ग्रामीण विकास विभाग की समीक्षा बैठक... जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि कोरोना संकट के कारण लोगों की आजीविका पर विपरीत असर पड़ा है। ऎसे में ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड प्रोटोकॉल के साथ मनरेगा के माध्यम से लोगों को रोजगार से जोड़कर उन्हें राहत दी जाए। उन्होंने कहा कि आगामी महीनों में मानसून को देखते हुए मनरेगा के तहत पौधारोपण का कार्य वृहद स्तर पर कराया जा सकता है। इसमें कोविड प्रोटोकॉल की पालना आसान होगी। इसको ध्यान में रखते हुए वन विभाग, मनरेगा एवं ग्रामीण विकास विभाग संयुक्त कार्ययोजना तैयार करें। गहलोत गुरूवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से ग्रामीण विकास विभाग की योजनाओं की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि राजस्थान में मई-जून के माह में तेज गर्मी के कारण मनरेगा श्रमिकों को गेंती, फावड़ा, परात आदि औजारों के उपयोग के साथ ही काम करने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। राज्य सरकार ने पूर्व में भी इस समस्या को ध्यान में रखते हुए मानवीय दृष्टिकोण अपनाकर मजदूरी को यथावत रखते हुए कार्य समय में बदलाव किया था और इसके अनुरूप टास्क को भी कम किया था। उन्होंने निर्देश दिए कि मनरेगा

"एक प्रयास - मानव सेवा की ओर"

Image
कोविड मरीजों के लिए पूनम अंकुर छाबड़ा ने जारी किया हेल्पलाइन नंबर  9958980151 नंबर पर कोविड टेस्ट, जांच, प्लाज्मा, बैड और ऑक्सीजन की व्यवस्था की मदद मिलेगी जयपुर। जस्टिस फॉर छाबड़ाजी संगठन की राष्ट्रीय अध्यक्षा पूनम अंकुर छाबड़ा ने कोविड मरीजों की मदद के लिए हेल्पलाइन नंबर +91-9958980151 जारी किया हैं। इस हेल्पलाइन पर कोविड मरीज और उनके परिजनों को कोविड टेस्ट,  जांच, प्लाज्मा, बैड और ऑक्सीजन की मदद करने का प्रयास किया जायेगा। पूनम अंकुर छाबड़ा ने बताया कि संगठन का हर सदस्य कोरोना मरीजों की सेवा के लिए तत्पर हैं। सभी लोगों से जरूरतमंद लोगों और कोविड मरीजों की मदद की अपील भी की गई हैं।

श्री कृष्ण बलराम मंदिर की 9वीं वर्षगांठ पर मनाया गया मंदिर का पाटोत्सव

Image
सप्ताह के कार्यक्रम को केवल एक दिन में किया संपन्न जयपुर। जगतपुरा स्थित श्री कृष्ण बलराम मंदिर में नवाँ पाटोत्सव संपन्न हुआ। कोरोना महामारी की की मौजूदा स्थिति को ध्यान में रखते हुए हरे कृष्णा मूवमेंट जयपुर के प्रबंधन ने एक सप्ताह के कार्यक्रम को केवल एक दिन में संपन्न किया। इस उत्सव में केवल मंदिर के सेवारतो ने ही भाग लिया। जन सामान्य के लिए ऑनलाइन दर्शन की व्यवस्था की गई। मन्दिर मे दिनभर हरि नाम संकीर्तन आयोजन किया गया तथा भगवान को 108 भोग अर्पित किए गए। आज से 9 वर्ष पूर्व गंगा सप्तमी के शुभ दिन श्री श्री कृष्ण बलराम की अर्च विग्रह मंदिर में स्थापित की गई थी। मंदिर के अध्यक्ष अमितासना दास ने बताया कि श्री श्री कृष्ण बलराम जी का विभिन्न प्रकार के फलों के रस से अभिषेक किया गया। इस पूरे कार्यक्रम को मंदिर के ऑफिशियल फेसबुक पेज और युटुब चैनल हरे कृष्ण जयपुर पर लाइव के माध्यम से लोगों तक पहुंचाया  गया। अध्यक्ष अमितासना दास ने बताया की कोरोना महामारी के समय में  लॉक डाउन का सदुपयोग मानवता एवं विश्व कल्याण में करने के लिए हरे कृष्णा मूवमेंट जयपुर द्वारा अनेकों ऑनलाइन कार्यक्रमों का आयोजन क

आरबीएसई की 10 वीं और 12 वीं बोर्ड परीक्षा रद्द करने की मांग, सीबीएसई बोर्ड भी 12 वीं की परीक्षा रद्द करें

Image
परीक्षा की आड़ में फीस लूट रहे है स्कूल संचालक जयपुर। संयुक्त अभिभावक संघ ने बुधवार को राज्य सरकार से आरबीएसई बोर्ड की कक्षा 10 वीं और 12 वीं की परीक्षा रद्द कर छात्र - छात्राओं को प्रमोशन देने की मांग की है और सीबीएसई बोर्ड से भी 12 वीं की परीक्षा स्थगित कर 10 वीं कक्षा की तरह 12 वीं के छात्र-छात्राओं को प्रमोशन देने की मांग की है, संयुक्त अभिभावक संघ ने कहा कि "परीक्षा की आड़ लेकर निजी स्कूल संचालक अभिभावकों पर दबाव बना रहे है और मनमानी फीस लूट रहे है। "  संघ प्रदेश प्रवक्ता अभिषेक जैन बिट्टू ने बताया कि सीबीएसई बोर्ड ने कक्षा 10 वीं की परीक्षा रद्द कर छात्र-छात्राओं को अलगे सत्र की तैयारी करने का पूरा अवसर दिया, ठीक उसी तरह 12 वीं कक्षा के छात्रों को भी अवसर प्रदान कर आगे के भविष्य को लेकर स्वत्रंत कर देना चाहिए, बार-बार परीक्षा की तारीख परिवर्तन से छात्र-छात्राओं का भविष्य अधर में लटका हुआ है जिससे चलते वह अपने बेहतर केरियर को लेकर कन्फ्यूज हो रहे है। जबकि राज्य सरकार ने 10 वीं और 12 वीं की परीक्षा को लेकर छात्र-छात्राओं को अंधेरे में रखा हुआ है जिसका खामियाजा अभिभावकों को

निजी स्कूलों और सरकार के खिलाफ बड़े आंदोलन की ओर अग्रसर प्रदेश का अभिभावक

Image
निजी स्कूलों में जब तक सुप्रीम कोर्ट के आदेश और फीस एक्ट की पालना नही होगी, अभिभावक फीस जमा नही करवाएगा - संयुक्त अभिभावक संघ जयपुर। कोरोना काल मे निजी स्कूलों की फीस को लेकर अभिभावकों का आक्रोश लगातार बढ़ता जा रहा है, सुप्रीम कोर्ट के निर्णय को 15 दिन होने के बावजूद अभी तक ना स्कूल संचालक सुप्रीम कोर्ट के आदेश की पालना कर रहे है ना राज्य सरकार आदेश की पालना करवा पा रही है। जिसको लेकर संयुक्त अभिभावक संघ प्रदेशभर के अभिभावकों से ज़ूम एप के माध्यम से वीडियों कांफ्रेसिंग जरिये " जन जागरूकता अभियान " के तहत अभिभावकों की शिकायतों को सुन रहा है और उन्हें सुप्रीम कोर्ट के आदेश, फीस एक्ट सहित अन्य सभी जानकारी उपलब्ध करवा रहे है।  इसी कड़ी में संयुक्त अभिभावक संघ  जयपुर जिला पदाधिकारी एडवोकेट प्रहलाद बागड़ा भी अभिभावक एकता आंदोलन सहित अन्य अभिभावक संगठनों और अभिभावक प्रतिनिधियों को एक दिवसीय निःशुल्क कानूनी जानकारी उपलब्ध करवाई गई। जागरूकता अभियान का ज़ूम एप पर अगला संवाद बुधवार को दोपहर 2 बजे से आयोजित होगा, जिससे जुड़ने के लिए अभिभावक हेल्पलाइन नम्बर 9772377755 पर सम्पर्क कर सकते है।  प्

बेजुबान जानवरों की मदद के लिए आगे आया जार

Image
जयपुर।  कोरोना वैश्विक महामारी के चलते राजस्थान में लॉकडाउन के चलते  बेजुबान जानवरों के सामने खाने पीने की समस्या खड़ी होने लगी है।  संकट की इस घड़ी में बेजुबान जानवरों की मदद  के लिए जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन ऑफ राजस्थान (जार) के प्रदेश अध्यक्ष राकेश शर्मा व प्रदेश महासचिव संजय सैनी के सानिध्य मैं जार जयपुर ग्रामीण ने एक मुहिम चलाई है, जिसमें बेजुबान जानवरों के लिए खाने की व्यवस्था की जा रही है। जार  जिला अध्यक्ष जगदीश शर्मा, भामाशाह कमल सिंह शेखावत व पुरुषोत्तम शर्मा खाने पीने के लिए तरस रहे जानवरों की मदद के लिए आगे आये है। सोमवार को जमवारामगढ़ बांध के पास बंदरों व गायों को टमाटर व ककड़ी खिलाई गई। मंगलवार को भी फल व सब्जी खिलाई जाएगी। जार ने घुमन्तु परिवारों को राशन सामग्री का वितरण किया जा रहा है।  पत्रकारों, पुलिसकर्मियों व अन्य लोगों को हजारों मास्क का वितरण हो चुका है। पेड़ों पर परिंडे बांधे जा रहे हैं। यह सहयोग भामाशाह सतीश डालमिया, रामबाबू पुजारी, कमल सिंह, पुरषोत्तम शर्मा आदि के माध्यम से किया जा रहा है। जार की इस मुहिम से कई भामाशाह जुड़ रहे हैं।

जिम्मेदारी और गंभीरतापूर्वक काम करें अधिकारी - उच्च शिक्षा मंत्री

Image
ग्रामीण क्षेत्रों में संक्रमण की चेन तोड़ना जरूरी जयपुर। उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी ने शुक्रवार को बीकानेर जिले के गजनेर और कोलायत में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों तथा कोविड केयर सेंटर का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। वहीं कोलायत में उपखण्ड स्तरीय अधिकारियों की बैठक ली तथा कोविड प्रबंधन की समीक्षा की। बैठक के दौरान भाटी ने कहा कि वर्तमान में ग्रामीण क्षेत्रों में भी कोरोना के मामले सामने आ रहे हैं। इसके मद्देनजर विशेष सतर्कता रखना जरूरी है। ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड एप्रोप्रिएट बिहेवियर की अनुपालना सुनिश्चित करवाई जाए। उन्होंने डोर-टू-डोर सर्वे की स्थिति की समीक्षा की तथा कहा कि ग्राम स्तरीय कमेटियों को मुस्तैद करते हुए प्रभावी सर्वे सुनिश्चित किया जाए। सर्वे से कोई भी घर वंचित नहीं रहे तथा सरकार द्वारा निर्धारित मानकों के अनुरूप सभी आवश्यक दवाइयां भी इस दौरान वितरित की जाएं। भाटी ने कोलायत में कोरोना संक्रमित और एक्टिव मामलों की समीक्षा की तथा कहा कि चिकित्सा संस्थानों में दवाइयां, बैड और ऑक्सीजन आवश्यकता के अनुसार उपलब्ध रहें। किसी प्रकार की दिक्कत हो तो, जिला स्तरी

50 करोड़ से ज्यादा की राशि वैक्सीन कंपनियों के देने के बाद भी नहीं मिल रही वैक्सीन

Image
चिकित्सा मंत्री ने दिया नेता प्रतिपक्ष के सवालों का जवाब कहा जयपुर। चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने नेता प्रतिपक्ष के प्रश्नों का जवाब देते हुए कहा कि 52 करोड़ रुपए से ज्यादा धनराशि वैक्सीन कंपनियों को देने के बावजूद प्रदेश को पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन नहीं मिल पा रही हैं। उन्होंने नेता प्रतिपक्ष गुलाब कटारिया द्वारा सभी प्रश्नों का सिलेसिलेवार जवाब दिया और कहा कि आजादी से आज तक कभी भी वैक्सीनेशन का भार राज्यों पर नहीं डाला गया। उन्होंने कहा कि युवाओं के टीकों की जिम्मेदारी केंद्र सरकार की है। चिकित्सा मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने 18 से 44 वर्ष आयुवर्ग के टीकाकरण के लिए अब तक 38 करोड़ 57 लाख 96 हजार 250 रुपए सीरम इंस्टीट्यूट को व 12 करोड़ 7 लाख 3 हजार 640 रुपए भारत बायोटेक को दिए है। इस तरह राज्य सरकार कुल 50 करोड़, 64 लाख 99 हजार 890 रुपए वैक्सीनेशन कंपनियों को दे चुकी है, लेकिन अभी भी पर्याप्त मात्रा में राज्य को वैक्सीन उपलब्ध नहीं हो रही है। उन्होंने कहा कि निर्माता फर्म भारत सरकार के नियंत्रणाधीन है, इसलिए भारत सरकार इन दोनों फर्मों को कहे कि राजस्थान को वैक्सीन पर्याप्त मात्रा

राजस्थान में विधायक कोष की राशि 5 करोड़ रूपए प्रतिवर्ष करने की स्वीकृति

Image
जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत नेविधायकों की अनुशंसा के आधार पर प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में स्थानीय विकास के कार्य कराने के लिए दी जाने वाली राशि 2.25 करोड़ रूपए प्रतिवर्ष से बढ़ाकर 5 करोड़ रूपए प्रतिवर्ष करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है। गहलोत ने वित्त वर्ष 2021-22 के राज्य बजट में विधायक स्थानीय क्षेत्र विकास योजना (विधायक कोष) के तहत दी जाने वाली राशि बढ़ाकर 5 करोड़ रूपए प्रतिवर्ष करने की घोषणा की थी। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने वर्तमान वित्तीय वर्ष में प्रत्येक विधायक के लिए दी जाने वाली 5 करोड़ रूपए की राशिमें से 3 करोड़ रूपएराज्य में 18 से 45 वर्ष आयु वर्ग के लोगों को निशुल्क कोविड वैक्सीनेशन के लिए उपलब्ध कराने के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी है। इसके लिए कुल 600 करोड़ रूपए की राशि राज्य स्तर से ही सीएम रिलीफ फण्ड के वैक्सीनेशन कोषअकाउंट में जमा कराई जाएगी। वित्तीय वर्ष 2020-21 के अनुसार ही विधायक कोष से 1करोड़ रूपए विधानसभा क्षेत्र में चिकित्सा से जुडे़ आधारभूत ढांचे को सुदृढ़ करने के लिए उपकरण, भवन आदि की उपलब्धता अथवा आदर्श सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (सीएचसी) की स्थापना के लिए विधायक की अ

सभी वर्गों को साथ लेकर ही लड़ी जा सकती है कोरोना से जंग - मुख्यमंत्री

Image
पंचायतीराज जनप्रतिनिधियों के साथ संवाद संक्रमण रोकने के लिए हथियार के रूप में लागू किया लॉकडाउन जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने विधायकों तथा पंचायतीराज संस्थाओं के जनप्रतिनिधियों का आहवान किया है कि प्रदेश भर में 24 मई तक लागू लॉकडाउन के प्रतिबंधों की कड़ाई से पालना करने के लिए आमजन को प्रेरित करें तथा कोरोना महामारी के प्रसार को रोकने में राज्य सरकार का सहयोग करें। उन्होंने कहा कि पक्ष-विपक्ष और समाज के सभी वर्गों को साथ लेकर ही यह जंग बेहतर तरीके से लड़ी जा सकती है। गहलोत ने अपील की कि सभी लोग यह संकल्प लें कि वे लॉकडाउन को सफल बनाएंगे। गहलोत सोमवार को मुख्यमंत्री निवास पर वीडियो कॉन्फें्रेस के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में बढ़ते कोरोना संक्रमण के विषय पर मंत्रिपरिषद के सदस्यों, विधायकगण, विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं, जिला प्रमुख से लेकर वार्ड पंच स्तर तक के पंचायती राज जनप्रतिनिधियों के साथ संवाद कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सरकार संक्रमितों के इलाज का बेहतर प्रबंधन कर सकती है, उन्हें अच्छी से अच्छी चिकित्सा सुविधाएं मुहैया करा सकती है। लेकिन अगर संक्रमण बढ़ता रहा तो ये सुविधाएं भी