Posts

Showing posts from October, 2019

Featured Post

स्वर्गीय श्रीमती सुप्यार कंवर की 35वीं पुण्यतिथि पर आमरस एवं भजनामृत गंगा कार्यक्रम का हुआ भव्य आयोजन

Image
जयपुर। स्वर्गीय श्रीमती सुप्यार कंवर की 35वीं पुण्यतिथि पर सुप्यार देवी तंवर फाउंडेशन के तत्वावधान में रविवार, 19 मई, 2024 को कांवटिया सर्कल पर भावपूर्ण भजन संध्या का आयोजन के साथ आमरस प्रसादी का वितरण किया गया।  कार्यक्रम में प्रतिभाशाली कलाकारों की आकाशीय आवाजें शांत वातावरण में गुंजायमान हो उठीं, जो उपस्थित लोगों के दिलों और आत्मा को छू गईं। इस अवसर पर स्थानीय जनप्रतिनिधि, आईएएस राजेंद्र विजय, एडिशनल एसपी पूनमचंद विश्नोई, सुरेंद्र सिंह शेखावत, अनिल शर्मा, के.के. अवस्थी, अन्य वरिष्ठ अधिकारीगण सहित सुप्यार देवी तंवर फाउंडेशन के अध्यक्ष राधेश्याम तंवर, उपाध्यक्ष श्रीमती मीना कंवर, मंत्री मेघना तंवर, कोषाध्यक्ष अजय सिंह तंवर एवं गणमान्य अतिथिगण उपस्थित रहे।

प्रफुल्ल पटेल ने गैंगस्टर इकबाल मिर्ची के साथ जमीन सौदे को बताया अटकलबाजी

Image
ईडी का दावा है कि प्रफुल्ल पटेल की कंपनी मिलिनियम डेवलपर्स ने 2007 में मुंबाइस सीजे हाउस के दो तलों को हाजरा को हस्तांतरित किया था। मुंबई। राष्ट्रवादी कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रफुल्ल पटेल ने गैंगस्टर इकबाल मिर्ची के साथ जमीन-जायदाद का सौदा करने से जुड़े समाचारों को मंगलवार को ''कोरी अटकलबाजी'' कहते हुये उसे खारिज कर दिया। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने पटेल को सम्मन भेज कर पूछताछ के लिए 18 अक्टूबर को बुलाया है। निदेशालय मिर्ची की इन कथित अवैध संपत्तियों के सौदे में मनी लांड्रिक के पहलुओं की जांच के सिलसिले में पटेल को बलाया है। मिर्ची भगोड़े गिरोहबाज अपराधी दाऊद इब्राहिम का सहयोगी था और उसकी मृत्यु हो चुकी है। दऊद को फरार घोषित किया जा चुका है। पटेल ने कहा कि दस्तावेजों को मीडिया को लीक किया गया हो सकता है।हो सकता है आपके पास कुछ दस्तावेज हों,जिन्हें कभी भी मेरे समक्ष नहीं लाया गया हो। मिर्चीमादक पदार्थों के अवैध कारोबार में लगे एक गिरोह का सरगना था। 2013 में उसकी मृत्यू हो गई।अब कुछ खबरें आयी हैं कि पटेल ने मिर्ची की पत्नी हाजरा मेमन के साथ मिर्ची परिवार की जमीन-जायद

मोदी-मोदी के नारे से कांग्रेस वालों के पेट में दर्द होता है: अमित शाह

Image
एनसीपी पर निशाना साधते हुए अमित शाह ने कहा कि शरद पवार जी तब मंत्री थे वो महाराष्ट्र के लिए क्या लेकर आए? पृथ्वीराज चव्हाण तब केंद्र से महाराष्ट्र के लिए क्या लेकर आए इसका हिसाब दें? आपके 50 साल के हिसाब पर, हमारे 5 साल के काम भारी पड़ेंगे। महाराष्ट्र में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले चुनावी रैली को संबोधित करते हुए गृह मंत्री और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने विपक्षी दलों को जमकर निशाने पर लिया। शाह ने कहा कि लोगों को कांग्रेस और राकांपा के नेताओं से यह पूछना चाहिए कि क्या वे जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को हटाए जाने संबंधी राजग सरकार के निर्णय का समर्थन करते हैं। शाह ने कहा, ''कई सरकारें आई और गई, कई प्रधानमंत्री आए और गए। किसी ने अनुच्छेद 370 को हटाए जाने का साहस नहीं दिखाया था। लेकिन, 56 इंच के सीने वाले व्यक्ति ने इसे एक बार में ही खत्म कर दिया।'' शाह ने कहा कि महाराष्ट्र के ग्रामीण क्षेत्रों की 3,400 परियोजनाएं जो 15 लाख करोड़ रुपये की हैं उन्हें देवेन्द्र फडणवीस ने शुरु किया है। इसके अलावा ढेर सारे काम भाजपा की सरकार ने