Featured Post

स्वर्गीय श्रीमती सुप्यार कंवर की 35वीं पुण्यतिथि पर आमरस एवं भजनामृत गंगा कार्यक्रम का हुआ भव्य आयोजन

Image
जयपुर। स्वर्गीय श्रीमती सुप्यार कंवर की 35वीं पुण्यतिथि पर सुप्यार देवी तंवर फाउंडेशन के तत्वावधान में रविवार, 19 मई, 2024 को कांवटिया सर्कल पर भावपूर्ण भजन संध्या का आयोजन के साथ आमरस प्रसादी का वितरण किया गया।  कार्यक्रम में प्रतिभाशाली कलाकारों की आकाशीय आवाजें शांत वातावरण में गुंजायमान हो उठीं, जो उपस्थित लोगों के दिलों और आत्मा को छू गईं। इस अवसर पर स्थानीय जनप्रतिनिधि, आईएएस राजेंद्र विजय, एडिशनल एसपी पूनमचंद विश्नोई, सुरेंद्र सिंह शेखावत, अनिल शर्मा, के.के. अवस्थी, अन्य वरिष्ठ अधिकारीगण सहित सुप्यार देवी तंवर फाउंडेशन के अध्यक्ष राधेश्याम तंवर, उपाध्यक्ष श्रीमती मीना कंवर, मंत्री मेघना तंवर, कोषाध्यक्ष अजय सिंह तंवर एवं गणमान्य अतिथिगण उपस्थित रहे।

आने वाले अप्रवासी राजस्थानियों को क्वारेंटाइन पीरियड का कड़ाई से करना होगा पालन - डाॅ. शर्मा


जयपुर। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डाॅ.रघु शर्मा ने बताया कि राज्य के बाहर से आने वाले अप्रवासी राजस्थानी और अप्रवासी श्रमिकों को 14 दिन का क्वारेंटाइन पीरीयड का कड़ाई से पालन करना होगा। किसी भी कीमत पर क्वारेंटाइन में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।


डाॅ.शर्मा ने बताया कि देश के बाहर रहने वाले लगभग 10 लाख लोगों ने राजस्थान में आने के लिए सरकार द्वारा जारी नंबर और पोर्टल के जरिए पंजीयन कराया है। उन्होंने बताया कि बाहर से आने वाले प्रवासियों की स्क्रीनिंग से भी उनके पाॅजीटिव होने का पता लगा मुश्किल है क्योंकि बिना लक्षण भी मरीज पाॅजीटिव आ रहे हैं। ऐसे में संबंधित जिला कलेक्टर्स उनकी होम क्वारेंटाइन या सरकारी क्वारेंटाइन करने की व्यवस्था करने के बाद ही क्षेत्र में भेजेंगे।


चिकित्सा मंत्री ने बताया कि देश के अन्य राज्यों में बस रहे राजस्थानियों को वापस घर में लाने के लिए मुख्यंमत्री ने प्रधानमंत्री को उन्हें ट्रेन के जरिए लाने का आग्रह किया था। भारत सरकार ने इसकी अनुमति दे दी है। प्रदेश के मुख्य सचिव के साथ रेलवे के अधिकारियों की बातचीत चल रही है। अंतिम निर्णय होने के बाद सभी अप्रवासियों को डेस्टिनेशन टू डेस्टिनेशन लाया जाएगा।


डाॅ.शर्मा ने बताया कि ग्रामीणों को कोई परेशानी ना हो तो स्थानीय टीम की निगरानी में उन्हें होम क्वारेंटाइन में रखा जा सकता है और यदि ग्रामीणों का विरोध हो तो गांव के बाहर सरकारी भवन में क्वारेंटाइन में रखा जाएगा। जो गरीब और बेसहारा हैं उनके लिए भी सरकारी क्वारेंटाइन की व्यवस्था करने के निर्देश दिए जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि बाहर से आने वाले किसी भी व्यक्ति को 14 दिन का होम या सरकारी क्वारेंटाइन पीरीयड का पालन करना ही होगा। उन्होंने कहा कि किसी भी सूरत में राज्य को संक्रमित नहीं होने दिया जाएगा।


Comments

Popular posts from this blog

आम आदमी पार्टी के यूथ विंग प्रेसिडेंट अनुराग बराड़ ने दिया इस्तीफा

1008 प्रकांड पंडितों ने किया राजस्थान में सबसे बड़ा धार्मिक अनुष्ठान

दी न्यू ड्रीम्स स्कूल में बोर्ड परीक्षा में अच्छी सफलता पर बच्चों को दिया नगद पुरुस्कार