Featured Post

स्वर्गीय श्रीमती सुप्यार कंवर की 35वीं पुण्यतिथि पर आमरस एवं भजनामृत गंगा कार्यक्रम का हुआ भव्य आयोजन

Image
जयपुर। स्वर्गीय श्रीमती सुप्यार कंवर की 35वीं पुण्यतिथि पर सुप्यार देवी तंवर फाउंडेशन के तत्वावधान में रविवार, 19 मई, 2024 को कांवटिया सर्कल पर भावपूर्ण भजन संध्या का आयोजन के साथ आमरस प्रसादी का वितरण किया गया।  कार्यक्रम में प्रतिभाशाली कलाकारों की आकाशीय आवाजें शांत वातावरण में गुंजायमान हो उठीं, जो उपस्थित लोगों के दिलों और आत्मा को छू गईं। इस अवसर पर स्थानीय जनप्रतिनिधि, आईएएस राजेंद्र विजय, एडिशनल एसपी पूनमचंद विश्नोई, सुरेंद्र सिंह शेखावत, अनिल शर्मा, के.के. अवस्थी, अन्य वरिष्ठ अधिकारीगण सहित सुप्यार देवी तंवर फाउंडेशन के अध्यक्ष राधेश्याम तंवर, उपाध्यक्ष श्रीमती मीना कंवर, मंत्री मेघना तंवर, कोषाध्यक्ष अजय सिंह तंवर एवं गणमान्य अतिथिगण उपस्थित रहे।

प्रदेश की तीनों विधानसभाओं में हुआ ‘सुरक्षित‘ और शांतिपूर्ण मतदान, 60.71 फीसदी मतदाताओं ने किया मताधिकार का इस्तेमाल

विधानसभा उप चुनाव- 2021

27 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला ईवीएम में हुआ सील, 2 मई को होगी मतगणना
सर्वाधिक मतदान राजसमंद विधानसभा में 67.18 फीसद मतदाताओं ने किया मतदान

जयपुर। राज्य की सहाड़ा, राजसमंद और सुजानगढ़ विधानसभाओं में शनिवार को हुए उपचुनाव में मिली प्रारंभिक जानकारी के अनुसार 60.71 फीसद मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। तीनों विधानसभाओं के 1145 मतदान केंद्रों पर कोरोना संबंधी सभी दिशा-निर्देशों की पालना के साथ शांतिपूर्ण मतदान करवाया गया।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता ने बताया कि प्रारंभिक जानकारी के अनुसार सर्वाधिक मतदान राजसमंद विधानसभा में 67.18 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। उन्होंने बताया कि भीलवाड़ा की सहाड़ा विधानसभा में 56.56 मतदाताओं ने वोट डाले तो चुरू जिले की सुजानगढ़ विधानसभा में कुल 59.20 प्रतिशत मतदान किया। उल्लेखनीय है कि 2018 के विधानसभा आम चुनाव में सहाड़ा में 73.56, सुजानगढ़ में 70.68 और राजसमंद में 76.59 फीसदी मतदान दर्ज हुआ था।

गुप्ता ने बताया कि कोरोना को देखते सभी मतदान के समय में 2 घंटों की बढ़ोतरी की थी। प्रदेश के मतदाताओं ने पूरी समझदारी दिखाते हुए कोरोना संबंधी सभी गाइडलाइन की पालना के साथ मतदान किया। उन्होंने बताया कि स्थानीय प्रशासन द्वारा सभी मतदान केंद्रों को सेनेटाइज करवा दिया गया है। मतदान केंद्र पर बिना मास्क के प्रवेश नहीं दिया गया। उन्होंने बताया कि मतदान के लिए सभी मतदान केंद्रों पर गोले बनाए गए, जहां मतदाताओं ने सोशल डिस्टेंसिंग के साथ मतदान किया।

सुबह से ही मतदान केंद्रों पर दिखी लंबी कतारें

गुप्ता ने बताया कि सभी मतदान केंद्रों पर सोशल डिस्टेंसिंग और कोरोना प्रोटोकॉल के साथ सुबह 7 बजे मतदान प्रारंभ हुआ। सुबह 9 बजे तक 10.56, अपरान्ह 11 बजे मतदान का प्रतिशत 23.18 पहुंचा, दोपहर 1 बजे तक 36.06 प्रतिशत और दोपहर 3 बजे तक 44.89 और 4 बजे तक 48.83 प्रतिशत मतदाताओं ने वोट डाले। सायं 5 बजे तक 54.07 फीसद मतदाताओं ने मताधिकार का इस्तेमाल किया। प्रारंभिक जानकारी के अनुसार मतदान समाप्ति तक 60.71 फीसद मतदान दर्ज हुआ।

दिव्यांगजन और बुजुर्गों के लिए किए विशेष प्रयास

गुप्ता ने बताया कि प्रदेश में कुल 29180 दिव्यांग और 80 वर्ष से अधिक उम्र के बुजुर्ग मतदाता हैं। प्रदेश में पहली बार ऎसे मतदाताओं के लिए पोस्टल बैलेट की सुविधा उपलब्ध कराई गई। तीनों विधानसभाओं में 904 मतदाताओं ने पोस्टल बैलेट से मतदान करने के लिए सहमति दी है, जिनमें से 895 मतदाताओं ने पोस्टल बैलेट से मतदान किया। उन्होंने बताया कि सामान्य दिव्यांग और बुजुर्ग मतदाताओं के लिए भी स्थानीय स्तर पर घर से लाने ले जाने के लिए 137 वाहन लगाए गए, जबकि मतदान केंद्रों पर स्काउट गाइड के वोलेंटियर उनकी मदद करते नजर आए। उन्होंने बताया कि दिव्यांगजनों की मदद के लिए चयनित मतदान केंद्रों पर 925 व्हील चेयर का भी इंतजाम किया गया।

3 करोड़ 13 लाख रुपए मूल्य की सामग्री जब्त

गुप्ता ने बताया कि चुनाव के दौरान अवैध शराब, नकदी, मादक पदाथोर्ं व अन्य सामग्रियों के दुरुपयोग की आशंका को देखते हुए संबंधित विधानसभा क्षेत्रों में एफएसटी, एसएसटी और पुलिस टीम ने मिलकर काम करना शुरू कर दिया था। कड़ी निगरानी और मॉनिटरिंग का परिणाम रहा कि 2 करोड़ 87 लाख 26 हजार 586 रुपए मूल्य की अवैध सामग्री जब्त की गई। इसमें 1 करोड़ 43 लाख रुपए के मादक पदार्थ, 27 लाख की अवैध शराब, 25 लाख की नकद राशि, 26 लाख के गहने और 90 लाख रुपए मूल्य की अन्य सामग्री जब्त की गई।

Comments

Popular posts from this blog

आम आदमी पार्टी के यूथ विंग प्रेसिडेंट अनुराग बराड़ ने दिया इस्तीफा

दी न्यू ड्रीम्स स्कूल में बोर्ड परीक्षा में अच्छी सफलता पर बच्चों को दिया नगद पुरुस्कार

1008 प्रकांड पंडितों ने किया राजस्थान में सबसे बड़ा धार्मिक अनुष्ठान