Featured Post

स्वर्गीय श्रीमती सुप्यार कंवर की 35वीं पुण्यतिथि पर आमरस एवं भजनामृत गंगा कार्यक्रम का हुआ भव्य आयोजन

Image
जयपुर। स्वर्गीय श्रीमती सुप्यार कंवर की 35वीं पुण्यतिथि पर सुप्यार देवी तंवर फाउंडेशन के तत्वावधान में रविवार, 19 मई, 2024 को कांवटिया सर्कल पर भावपूर्ण भजन संध्या का आयोजन के साथ आमरस प्रसादी का वितरण किया गया।  कार्यक्रम में प्रतिभाशाली कलाकारों की आकाशीय आवाजें शांत वातावरण में गुंजायमान हो उठीं, जो उपस्थित लोगों के दिलों और आत्मा को छू गईं। इस अवसर पर स्थानीय जनप्रतिनिधि, आईएएस राजेंद्र विजय, एडिशनल एसपी पूनमचंद विश्नोई, सुरेंद्र सिंह शेखावत, अनिल शर्मा, के.के. अवस्थी, अन्य वरिष्ठ अधिकारीगण सहित सुप्यार देवी तंवर फाउंडेशन के अध्यक्ष राधेश्याम तंवर, उपाध्यक्ष श्रीमती मीना कंवर, मंत्री मेघना तंवर, कोषाध्यक्ष अजय सिंह तंवर एवं गणमान्य अतिथिगण उपस्थित रहे।

कोरोनाकाल में सहकारी बैंकों के अधिकारियों और कर्मचारियों के वेतन में की वृद्धि

जयपुर। प्रदेश के सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना ने बुधवार को बताया कि सहकारी बैंकों की सीधी भर्ती से नियुक्त अधिकारियों एवं कर्मचारियों तथा अनुकम्पा से नियुक्त कर्मचारियों को परिवीक्षा अवधि में देय नियत पारिश्रमिक में दुगुने तक की वृद्धि की गई है। उन्होंने बताया कि इस वृद्धि से 4 संवर्ग वरिष्ठ प्रबंधक, प्रबंधक, बैंकिग सहायक एवं चुतर्थ श्रेणी कर्मचारियों को लाभ मिलेगा। संशोधित नियत वेतन 1 जुलाई, 2020 से लागू होगा।


आंजना ने बताया कि इस निर्णय से राजस्थान राज्य सहकारी बैंक लि. (अपेक्स बैंक) तथा जिला केन्द्रीय सहकारी बैंक लि. में नियुक्त अधिकारियों एवं कर्मचारियों को लाभ मिलेगा। साथ ही ऐसे अधिकारी एवं कर्मचारी जिनका परिवीक्षा काल पूरा नही हुआ है। वो भी इस दायरे में आएंगे।


रजिस्ट्रार सहकारिता नरेश पाल गंगवार ने बताया कि परिवीक्षा के दौरान चुतर्थ श्रेणी कर्मचारी का वेतन प्रतिमाह 4850 से बढ़ाकर 10640 रूपये, बैंकिग सहायक का वेतन 8910 से बढ़ाकर 11950, प्रबंधक का वेतन 14660 से बढ़ाकर 23860 तथा वरिष्ठ प्रबंधक का वेतन 22180 से बढ़ाकर 30680 रूपये किया गया है। इस संबंध में आदेश जारी कर दिए गए है।


Comments

Popular posts from this blog

आम आदमी पार्टी के यूथ विंग प्रेसिडेंट अनुराग बराड़ ने दिया इस्तीफा

दी न्यू ड्रीम्स स्कूल में बोर्ड परीक्षा में अच्छी सफलता पर बच्चों को दिया नगद पुरुस्कार

1008 प्रकांड पंडितों ने किया राजस्थान में सबसे बड़ा धार्मिक अनुष्ठान