Featured Post

स्वर्गीय श्रीमती सुप्यार कंवर की 35वीं पुण्यतिथि पर आमरस एवं भजनामृत गंगा कार्यक्रम का हुआ भव्य आयोजन

Image
जयपुर। स्वर्गीय श्रीमती सुप्यार कंवर की 35वीं पुण्यतिथि पर सुप्यार देवी तंवर फाउंडेशन के तत्वावधान में रविवार, 19 मई, 2024 को कांवटिया सर्कल पर भावपूर्ण भजन संध्या का आयोजन के साथ आमरस प्रसादी का वितरण किया गया।  कार्यक्रम में प्रतिभाशाली कलाकारों की आकाशीय आवाजें शांत वातावरण में गुंजायमान हो उठीं, जो उपस्थित लोगों के दिलों और आत्मा को छू गईं। इस अवसर पर स्थानीय जनप्रतिनिधि, आईएएस राजेंद्र विजय, एडिशनल एसपी पूनमचंद विश्नोई, सुरेंद्र सिंह शेखावत, अनिल शर्मा, के.के. अवस्थी, अन्य वरिष्ठ अधिकारीगण सहित सुप्यार देवी तंवर फाउंडेशन के अध्यक्ष राधेश्याम तंवर, उपाध्यक्ष श्रीमती मीना कंवर, मंत्री मेघना तंवर, कोषाध्यक्ष अजय सिंह तंवर एवं गणमान्य अतिथिगण उपस्थित रहे।

विद्युत छीजत में कमी के लिए सभी अभियन्ता टीम भावना से कार्य करें - ऊर्जा मंत्री



जयपुर। ऊर्जा मंत्री डॉ. बी. डी. कल्ला ने कहा है कि विद्युत छीजत को घटाने के लक्ष्य को हासिल करने के लिए जयपुर, जोधपुर एवं अजमेर डिस्कॉम के सभी अभियंता संयुक्त जिम्मेदारी व टीम भावना से कार्य करें। जहां-जहां भी छीजत ज्यादा है, इन क्षेत्रों में ओवर कैपेसिटी वाले ट्रांसफार्मर्स की स्थिति में सुधार लाने के लिए एग्रीकल्चर फीडर को अलग करने की कार्यवाही की जाए। 

 

डॉ. कल्ला ने मंगलवार को जयपुर में विद्युत भवन से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से तीनों विद्युत वितरण कम्पनियों के प्रबंध निदेशक से लेकर अलग-अलग जिलों में फील्ड में तैनात अधिकारियों की बैठक को सम्बोधित करते हुए इस आशय के निर्देश प्रदान किए। उन्होंने कहा कि विद्युत छीजत पर लगाम कसने के लिए ठोस कार्य योजना के साथ प्रयास करे और बकाया राजस्व की वसूली के लिए भी सघन अभियान चलाए।

 

 ऊर्जा मंत्री ने कहा कि विद्युत छीजत को रोकने के लिए अधिकारियों की जिम्मेदारी तय की जाए। अधीक्षण अभियंता, अधिशाषी अभियंता और सहायक अभियंता अपने अधीन आने वाले क्षेत्रों में जांच के लिए दौरा करे और डिस्कॉम्स के उच्चाधिकारियों के स्तर इसकी नियमित मॉनिटरिंग की जाए। उन्होंने इसके लिए डिस्कॉम्स के तहत प्रभावी सूचना तंत्र बनाने की आवश्यकता पर बल देते हुए कहा कि सभी अधिकारी फील्ड में कार्यरत अपने अधीनस्थ कार्मिकों के माध्यम से इस बारे में सूचनाएं प्राप्त करे। जो कार्मिक इस दिशा में अच्छा कार्य करे, उनको पुरस्कृत किया जाए। 

 

 प्रमुख शासन सचिव ऊर्जा एवं अध्यक्ष डिस्कॉम्स अजिताभ शर्मा ने समीक्षा करतें हुए कहा कि सभी को विद्युत छीजत 15 प्रतिशत से कम लानी है और यह कार्य सस्टेनेबल होना चाहिए। उन्होंने कहा कि व्यवस्थित रूप से योजना बनाकर पर्याप्त जाप्ते के साथ सतर्कता जांच की कार्यवाही की जाये। उन्होंने निर्देश दिये की खराब मीटरों को तुरन्त बदलने की कार्यवाही की जाये। श्री शर्मा ने अत्यधिक छीजत वाले क्षेत्रों के अधिशाषी अभियन्ताओं से एक-एक कर छीजत बढने के कारणों की जानकारी प्राप्त करते हुए निर्देश दिये की प्लान्ड व फोकस तरीके से कार्य करें। उन्होने स्पष्ट निर्देश दिये की जिन डिवीजनों की स्थिति खराब है वे आगामी वीडियो कान्फ्रेन्स से पूर्व स्थिति में सुधार के लिए प्रभावी कार्यवाही करें। 

 

     वीडियो कॉफ्रेन्स में विद्युत प्रसारण निगम के सीएमडी दिनेश कुमार, विद्युत उत्पादन निगम के सीएमडी पी. रमेश, ऊर्जा विकास निगम के एमडी पीयूष सामरिया, जयपुर डिस्कॉम के एमडी ए.के.गुप्ता, अजमेर उिस्कॉम के एमडी वी.एस. भाटी, जोधपुर डिस्कॉम के एमडी अविनाश सिघवी सहित निदेशक तकनीकी व वित्त, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (सर्तकता), मुख्य अभियन्ता, अधीक्षण अभियन्ता व अधिशाषी अभियन्ता उपस्थित रहे।

 


Comments

Popular posts from this blog

आम आदमी पार्टी के यूथ विंग प्रेसिडेंट अनुराग बराड़ ने दिया इस्तीफा

दी न्यू ड्रीम्स स्कूल में बोर्ड परीक्षा में अच्छी सफलता पर बच्चों को दिया नगद पुरुस्कार

1008 प्रकांड पंडितों ने किया राजस्थान में सबसे बड़ा धार्मिक अनुष्ठान